CONTENT

अयोध्या नगरी का राम, काशी का शिव हूं मै
गंगा सा मोक्ष देती, यमुना का मोह हूं मै
राम की मर्यादा और कृष्ण की शरारत हूं
सीता का स्वाभिमान, द्रौपदी का अपमान हूं

महाराणा की तलवार, प्रत्यंचा का बाण मै
अंग्रेज़ो पर भारी पड़ी मनु की ललकार मै
कर्ण सा दानी हूं,पन्ना सा बलिदानी हूं
सृष्टि पर राज कंरू हरिश्चंद्र की वाणी हूं

नेता की कुर्सी हूं, गरीबों का आश्वासन
मोदी का नेहरू जैकेट,गांधी का खादी हूं मै
तुलसी सा भक्त हूं, मीरा का फिक्र हूं मैं
रसखान की कविता में कृष्ण का जिक्र हूं मै

Sign up to write amazing content

OR